News in Brief

नई दिल्लीः कई लोगों में अक्सर तोंद बढ़ जाती है. हमारे आसपास भी ऐसे कई लोग हैं, जो तोंद बढ़ने की समस्या से परेशान हैं. दरअसल विज्ञान की भाषा में तोंद बढ़ने को एबडोमिनल ओबेसिटी कहा जाता है. इसमें पेट के आसपास चर्बी बढ़ जाती है, जिससे हमारी कमर का साइज बढ़ जाता है. तोंद का बढ़ना शरीर में फै की अधिकता माना जाता है. शरीर के लिए फैट जरूरी है लेकिन अगर यह ज्यादा होगा तो इससे समस्या भी होती है. तोंद बढ़ने से दिल की समस्या और डायबिटीज जैसी समस्याएं हो सकती हैं. तो आज हम आपको ऐसे 5 कारणों के बारे में बताएंगे, जिनसे हमारी तोंद बढ़ जाती है-

ज्यादा कैलोरी लेना
तोंद बढ़ने का सबसे बड़ा कारण ज्यादा मात्रा में कैलोरी लेना है. अगर आप जरूरत से ज्यादा कैलोरी लेते हैं तो आपका वजन बढ़ेगा और तोंद बढ़ने के चांस भी बढ़ जाएंगे. इसके साथ ही उम्र बढ़ने के साथ ही शरीर में फैट बर्न  करने की क्षमता भी कम होती है, जिसके चलते भी तोंद निकलने की समस्या हो जाती है. 

बॉडी फैट डिस्ट्रीब्यूशन की समस्या
कई बार हार्मोन्स के चलते भी हमारी बॉडी में कुछ खास जगहों पर फैट जमा हो जाता है. जैसे महिलाओं में मेनोपॉज के बाद उनके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा कम हो जाती है. ऐसे में उनके पेट के आसपास ज्यादा फैट जमा होगा. इसी तरह पुरुषों में भी बॉडी फैट डिस्ट्रीब्यूशन की समस्या के चलते तोंद निकल आती है.

जीन्स भी बड़ी वजह
कुछ लोगों में जेनेटिक ही ये होता है कि उनके शरीर के खास हिस्से में फैट जमा होता है. पुरुषों में अक्सर यह पेट के आसपास ही होता है. इसलिए अगर आपके बड़ों में तोंद की समस्या है तो जेनेटिक तौर पर आपमें भी तोंद निकलने की समस्या हो सकती है. 

हार्मोन्स
हमारे शरीर में हार्मोन्स का लेवल भी तोंद की समस्या पैदा करता है. दरअसल हमारे शरीर में एक हार्मोन पाया जाता है, लेप्टिन. यह हार्मोन शरीर में खाना खाने के बाद पेट भरने का संदेश देता है. अगर आपके शरीर में लेप्टिन की कमी होती है तो संभव है कि आपको पेट भरा हुआ देर से महसूस होगा और आप ज्यादा खाना खाएंगे. इसके चलते शरीर में फैट जमा होगा और तोंद निकलेगी. 

तनाव
आजकल तनाव लोगों की जिंदगी का हिस्सा बन गया है. लेकिन तनाव के चलते हमारे शरीर में कोर्टिसोल हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है. जिसके चलते हमारे पेट के आसपास फैट जमा होने की समस्या हो जाती है, जिसे हमें तोंद कहते हैं. साथ ही तोंद बढ़ने पर और कोर्टिसोल बढ़ेगा और ज्यादा तोंद बढ़ेगी. इनके अलावा बाइपोलर डिसऑर्डर और सिजोफ्रेनिया की समस्या में भी इंसान में तोंद बढ़ने की समस्या हो जाती है.

(डिस्कलेमर- यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और विशेषज्ञों द्वारा बताई गई बातों पर आधारित है. कोई भी समस्या होने पर डॉक्टर की सलाह लें.)