Jaipur: कोरोना के इस मुश्किल समय में हेल्थ वॉरियर्स (Health warriors) अपने कर्तव्य के साथ-साथ मानवता (Humanity) की मिसाल भी पेश कर रहे हैं. इन कर्म वीरों के द्वारा कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) मरीजों को देखभाल में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही कोरोना मरीज की देख-रेख का कुछ ऐसा ही वीडियो सामने आया है. 

यह भी पढ़ें- इंसानियत: Corona काल में Jaipur के Veeren Sharma हैं स्ट्रीट Dogs के Super Hero Doga

जयपुर के निजी अस्पताल में जनरल ड्यूटी असिस्टेंट ममता वर्मा (Mamta Verma) बुजुर्ग मरीज को अपने हाथों से खाना खिला कर अपनी ड्यूटी के साथ-साथ इंसानियत का धर्म भी बखूबी रूप से निभा रही हैं. ममता वर्मा  आरएसएलडीसी से ट्रेनिंग लेकर निजी अस्पताल में हेल्थ केयर की भूमिका निभा रही है. ममता जैसे कई युवा केयर सेक्टर में अपनी सेवाएं दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें- Covid-19: पिता की मौत का सदमा नहीं सह पाई बेटी, उनकी ही जलती चिता में कूदी, हालत गंभीर

पिछले 2 सालों में राजस्थान में 5100 युवाओं ने केयर सेक्टर में अपने हुनर का परिचय दिया. ​राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम (Rajasthan Skills and Livelihoods Development Corporation) की ओर से ​विभिन्न स्कीमों के माध्यम से हेल्थकेयर सेक्टर के कोर्सेज करवाए जाते हैं. कोरोना काल में आरएसएलडीसी की ओर से प्रशिक्षित हेल्थकेयर युवाओं ने फ्रंट लाइन वर्कर्स के रूप में कार्य किया है. 

5,500 युवाओं को हेल्थकेयर सेक्टर के लिए किया गया तैयार
आरएसएलडीसी ने पिछले दो वर्षों में कौशल विकास की विभिन्न योजनाओं के माध्यम से करीब साढ़े पांच हजार 5,500 युवाओं को हेल्थकेयर सेक्टर के लिए तैयार किया है. हेल्थकेयर में जनरल ड्यूटी असिसटेंट, बेडसाइड असिसटेंट, डायलिसिस टेक्निशियन, डोमेस्टिक असिसटेंट वृद्धजनों के लिए, इमरजेंसी मेडिकल टेक्निशियन, फ्रंट लाइन हेल्थ वर्कर्स, होम हेल्थ स​हयोगी और नर्सिंग सहयोगी आदि कोर्सेज शामिल हैं.