Rishi Sunak Election Campaign: ब्रिटेन के पूर्व वित्त मंत्री ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ने मंगलवार को वादा किया कि अगर वह देश के अगले प्रधानमंत्री चुने जाते हैं तो घरों के बढ़ते बिजली बिलों से निपटने में लोगों की मदद के लिए और अधिक धन देंगे. प्रधानमंत्री पद की दौड़ में शामिल कंजर्वेटिव पार्टी के नेताओं में 42 साल के भारतवंशी सुनक भी हैं. उन्होंने लोगों की आर्थिक मदद के लिए कर्ज को सीमित करके बचत करने पर जोर दिया. 

दिल्ली CM ने भी किया था ऐसा ही वादा

बता दें कि लगभग ऐसा ही चुनावी वादा दिल्ली में सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी चुनावों से पहले किया था. उनका यह सिस्टम काफी हद तक कारगर भी रहा. इसी की कामयाबी को देखते हुए केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने इस फॉर्मूले को पंजाब में भी चुनावी वादे के रूप में इस्तेमाल किया था. फ्री बिजली के वादे को आगे कर उन्होंने पंजाब का चुनाव भी जीत लिया था.

ब्रिटेन में बढ़ता बिजली का बिल अहम मुद्दा

ब्रिटेन में बिजली के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था कॉनवैल इनसाइट ने पूर्वानुमान व्यक्त किया है कि बिजली के बढ़ते बिल इस सर्दी में अनुमान से अधिक हो सकते हैं. सुनक ने कहा, ‘मेरे दिमाग में कोई संदेह नहीं है कि और अधिक समर्थन की जरूरत होगी.’ प्रधानमंत्री पद की दौड़ में सुनक और विदेश मंत्री लिज ट्रस के प्रचार में बिजली बिल एक प्रमुख मुद्दा बना हुआ है.

अगले पीएम हो सकते हैं सुनक

गौरतलब है कि ब्रिटेन में पीएम बोरिस जॉनसन के इस्तीफे के बाद उनके उत्तराधिकारी के चुनाव के लिए सत्तारूढ़ कंजरवेटिव पार्टी एक चुनाव अभियान छेड़े हुए है. सितंबर में पार्टी सदस्यों की अंतिम वोटिंग के जरिए नए पीएम का चयन होगा. कई चरणों में चुनाव प्रक्रिया जारी है. अब तक के चरणों में सुनक की प्रतिद्वंद्वी विदेश मंत्री लिज ट्रस आगे चल रही हैं. अब तक हुए दो जनमत सर्वेक्षणों में ट्रस ने सुनक पर बढ़त बना ली है.

ये स्टोरी आपने पढ़ी देश की सर्वश्रेष्ठ हिंदी वेबसाइट Zeenews.com/Hindi पर