जबलपुरः कोरोना की दूसरी लहर में मध्य प्रदेश में बड़ी संख्या में लोग कोरोना की चपेट में आए. इस दौरान बेड और ऑक्सीजन की कमी की खबरें भी सामने आई. हालांकि अब धीरे धीरे हालात बेहतर हो रहे हैं. जबलपुर जिले में तो हालात काफी तेजी से बेहतर हो रहे हैं. बता दें कि जिले में कोरोना का पॉजिटिविटी रेट 29 फीसदी से घटकर 15.40 फीसदी के आसपास रह गया है. 

क्या कहते हैं आंकड़े
मध्य प्रदेश स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, रविवार को जबलपुर में कोरोना के 540 नए मामले सामने आए. लेकिन इस दौरान 573 मरीज ठीक भी हुए. जिले में पॉजिटिविटी दर 29 फीसदी से घटकर 15.40 फीसदी हो गई है. जबलपुर में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 43993 है. इनमें से 38326 मरीज रिकवर हो चुके हैं. एक्टिव केस की संख्या 5182 बची है. जिले में अब तक कोरोना से 485 मरीजों की मौत हुई है. वहीं रिकवरी रेट 87.11 फीसदी है. जिले में 74.12 फीसदी मरीज होम आइसोलेशन में हैं. 

सीएम शिवराज ने कही ये बात
जबलपुर में जिला क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक हुई. जिसमें सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी शिरकत की. इस दौरान सांसद राकेश सिंह, मंत्री अरविंद भदौरिया, विधायक अजय विश्नोई, तरुण भनौत समेत कई राजनेता और समाजसेवी उपस्थित रहे. सीएम ने इस दौरान निर्देश दिए कि मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के अंतर्गत आयुष्मान योजना के पात्र लोगों के कार्ड बनवाने और पात्र परिवार के बाकी सदस्यों के नाम जोड़े जाएं. 

सीएम बैठक के दौरान अपनी सरकार के मंत्रियों से कहा कि वह सूचना के विभिन्न माध्यमों का प्रयोग करते हुए लोगों को इस महामारी के बारे में जागरुक करें. 

सीएम शिवराज बोले- पॉजिटिव माइंडसेट के साथ आया हूं
सीएम शिवराज ने बैठक के दौरान कहा कि ‘मैं पॉजिटिव माइंड सेटअप के साथ आपके बीच आया हूं. हमें सब कुछ भूलकर एक साथ इस महामारी के खिलाफ जुटना है. कोरोना के मामले बीते 24 घंटों में कम हुए हैं लेकिन हमें रुकना नहीं है. अभी लंबा रास्ता तय करना है’.

सीएम शिवराज ने ब्लैक फंगस को लेकर कही ये बात
जिला क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक के बाद सीएम ने जिले के स्वास्थ्य कर्मचारियों, डॉक्टरों से वर्चुअल संवाद किया. इस दौरान सीएम ने ब्लैक फंगस बीमारी की भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि उनकी टीम आईसीएमआर, भारत सरकार के संपर्क में है. जो भी इलाज होगा, हम उपलब्ध करा देंगे. सीएम ने कहा कि मिलकर लड़ेंगे, कोरोना से जीतेंगे. बैठक के बाद सीएम शिवराज ने जिले में तैयार किए गए 500 बेड के कोविड केयर सेंटर का भी निरीक्षण किया.