मोहम्मद तारिक/पीलीभीत: उत्तर प्रदेश की पीलीभीत पुलिस पर रिटायर्ड फौजी के साथ अमानवीय व्यवहार और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने का गंभीर आरोप लगा है. रिटायर्ड फौजी ने आला अधिकारियों से शिकायत कर दारोगा के खिलाफ केस दर्ज कर कारर्वाई की गुहार लगाई है. इस मामले में एसपी ने रामनरेश नाम के दरोगा को सस्पेंड कर जांच सीओ पूरनपुर को सौपी है.

फौजी से हो गई थी झड़प 
दरअसल, बीते 3 मई को माधोटांडा क्षेत्र के मथना जब्ती निवासी रिटायर्ड फौजी रेशम सिंह अपनी 80 बर्षीय माता और दो बहनों के साथ लखीमपुर अपने जीजा के दाह संस्कार में जा रहे थे. तभी कोतवाली पूरनपुर मंडी गेट पर मतगणना स्थल के बाहर सड़क पर वाहन चेकिंग के दौरान दरोगा रामनरेश की किसी बात को लेकर फौजी से झड़प हो गई. 

VIDEO: पंचायत चुनाव जीतने के जश्न में सोशल डिस्टेंसिंग हवा! पहले हर्ष फायरिंग, फिर भीड़ का डीजे पर डांस

दारोगा ने वर्दी फाड़ने का लगाया आरोप 
दारोगा ने आरोप लगाया था फौजी ने उनकी वर्दी फाड़ दी. जबकि रेशम सिंह ने दारोगा पर सड़क पर ही पिटाई का आरोप लगाया था. जिसका विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. पुलिस ने रेशम सिंह के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर भी लिया था.

VIDEO: अमेठी में ग्राम प्रधान इमरान खान की बाइक रैली में बजा ‘इमरान आया नया पाकिस्तान आया’ सॉन्ग

थाने ले जाकर पीटा:रेशम सिंह 
आरोप है कि गिरफ्तार करने के बाद रेशम सिंह को दारोगा रामनरेश ने कोतवाली पूरनपुर के अंदर ही बुरी तरह मारा. साथ ही महिलाओं को भी पीटा. आरोप है कि बाद में पुलिस ने  रेशम सिंह को कोतवाली से ही मारपीट कर जमानत दे दी.

आरोपी दारोगा सस्पेंड 
 रेशम सिंह ने आला अधिकारियों से शिकायत कर आरोपी दारोगा के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है. वहीं, मामला संज्ञान में आने के बाद एसपी ने दरोगा को सस्पेंड कर दिया है. साथ ही इस घटना की जांच सीओ पूरनपुर को सौंप दी  है.  जांच पूरी होने पर आगे की कार्रवाई की बात कही है.

WATCH LIVE TV