News in Brief

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने बुधवार को कहा कि राज्य में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के मामलों में गिरावट के बावजूद लोगों को आत्मसंतुष्ट होकर ये नहीं सोचना चाहिए कि सबकुछ सही हो गया है. सोशल मीडिया पर प्रदेश को संबोधित करते हुए ठाकरे ने कहा, ‘हम वायरस की तीसरी लहर के लिये तैयारी कर रहे हैं.’

कोरोना ग्राफ में उतार-चढ़ाव जारी

ठाकरे ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिये मुंबई नगर निगम (Mumbai Nagar Nigam) के काम की सराहना की है. उन्होंने कहा, ‘केंद्र की वैज्ञानिक समिति ने कोरोना वायरस की तीसरी लहर के बारे में जो चेतावनी दी है.

हम पिछले महीने से ही उसकी तैयारी कर रहे हैं.’ प्रदेश के नाम संबोधन में ये जानकारी भी दी गई कि कई जिलों में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है वहीं कुछ जिलों में मामले बढ़ रहे हैं.

ये भी पढे़ं- कनाडा: टीनएजर के लिए Pfizer को मंजूरी की तैयारी, स्कूल खुलने से पहले हर बच्चे को टीका लगाने का लक्ष्य

‘ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता 3000 मीट्रिक टन होगी’

सीएम ने कहा कि राज्य को ऑक्सीजन उत्पादन क्षमता बढ़ाकर 3000 मीट्रिक टन करनी होगी और इस पर काम शुरू कर दिया गया है. उन्होंने कहा, ‘हम रोजाना 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन करते हैं लेकिन हमारी खपत 1700 मीट्रिक टन है.’

उच्चतम न्यायालय द्वारा मराठा आरक्षण को खारिज किये जाने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ठाकरे ने कहा कि वह इस बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखकर दखल देने और समुदाय को राहत पहुंचाने का अनुरोध करेंगे. ठाकरे ने राज्य के लोगों से अपील की कि वे उन लोगों की बातों से गुमराह न हों जो मराठा आरक्षण के मुद्दे को लेकर अशांति पैदा करना चाहते हैं.

LIVE TV