Lakhisarai: लखीसराय में एक प्रेमी युगल को पहले तो ग्रामीणों ने रातभर पेड़ से बांधकर रखा और फिर सुबह उनकी शादी करा दी. यह अमानवीय मामला वीरुपुर थाना क्षेत्र के तुरकैजनी गांव का बताया जा रहा है, जहां रविवार की रात से पूरा घटनाक्रम शुरू हुआ. यह पूरा वाक्या कहीं और नहीं बल्कि थाने से महज एक किलोमीटर की दूरी पर हुआ. बावजूद पुलिस के कानों तक यह खबर नहीं पहुंची.                                                                                                                                                                                                                                                  

प्रेम प्रसंग से जुड़े इस मामले में लड़की पहले से ही शादीशुदा है. जानकारी के अनुसार, रविवार की देर शाम तुरकैजनी गांव की बहू से चोरी छिपे मिलने पहुंचे युवक को महिला के साथ ही ग्रामीणों ने पकड़ लिया. युवक की पहचान शेखपुरा जिला के अकरपुर गांव निवासी सचिन कुमार (24) के रूप में हुई. जो महिला के मायके के समीप का रहने वाला है. महिला का पति रविवार को किसी निमंत्रण में शामिल होने बाहर गया हुआ था. इधर, ग्रामीणों ने विवाहिता और कथित रूप से उसके प्रेमी को रात भर बिजली के पोल से बांध कर रखा.

ये भी पढ़ें- आखिर कौन थी बॉबी, जिसकी मौत का खुलासा नहीं चाहते थे 44 नेता! क्या वाकई ये आत्महत्या थी

रात भर पोल से बांध कर रखे जाने के बाद सोमवार की सुबह ग्रामीणों की मौजूदगी में दोनों की शादी गांव स्थित काली मंदिर परिसर में करा दी गई. इस दौरान ग्रामीणों के साथ स्थानीय सरपंच पति अर्जुन साहनी ही नहीं बल्कि महिला के पहले पति और अन्य स्वजन भी उपस्थित रहे. सैकड़ों की संख्या में उमड़ी भीड़ के बीच युवक और युवती असहाय बने रहे.

उक्त विवाहिता की एक दो वर्षीय बच्ची भी है, जिसे पति ने अपने पास रखते हुए विवाहिता को प्रेमी के साथ विदा कर दिया. देर रात से अगले दिन सुबह तक चले इस हाई वोल्टेज ड्रामे और सोशल साइटों पर वायरल हो रही सारी गतिविधियों के बावजूद भी स्थानीय पुलिस को इसकी जानकारी तब हुई, जब युवक-युवती को विवाह के बाद गांव से विदा किया जा रहा था.

ये भी पढ़ें- पटना साहिब व बाललीला गुरुद्वारे को बम से उड़ाने की धमकी, अपराधियों ने फिरौती में मांगे 50 करोड़

जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस बल युवक व युवती को अपने साथ थाने लाई. इस संबंध में विशेष कुछ कहने से बच रहे थानाध्यक्ष दिलीप कुमार ने बताया कि विवाहिता प्रेमी के बजाए पति के साथ ही रहने की बात कह रही है. युवती की माने तो ग्रामीणों द्वारा जबरन शादी रचाई गई है. हालांकि, दोनों के परिवार वालों को समुचित जानकारी उपलब्ध कराते हुए बुलाया जा रहा है. उनके आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी.

(इनपुट- राज किशोर मधुकर)