News in Brief

नई दिल्ली: कोरोना महामारी ने हर आम और खास को एक लाइन में लाकर खड़ा कर दिया है. इलाज न मिलने के कारण कहीं लोग दम तोड़ रहे हैं तो कोई अपना दर्द दुनिया के सामने रख रहा है. यूपी में भले ही सरकार पर्याप्त स्वास्थ्य इंतजामों के दावे करे लेकिन उन्हीं की पार्टी के विधायक ने इसकी पोल खोलकर रख दी है.

जमीन पर लेटी रही पत्नी

दरअसल, फिरोजाबाद के जसराना से बीजेपी विधायक रामगोपाल लोधी की पत्नी को इलाज के लिए अस्पताल में एक बेड तक नहीं मिल सका. इसके बाद उन्हें कोरोना संक्रमित पत्नी को जमीन पर लेटाना पड़ा. विधायक ने एक वीडियो शेयर कर आपबीती लोगों को सुनाई. अब उनका ये वीडियो वायरल हो गया है.

रामगोपाल उर्फ पप्पू 30 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हो गए थे जिसके बाद उनकी पत्नी संध्या भी संक्रमण का शिकार हुईं. पहले पत्नी को इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया फिर तबियत बिगड़ने पर आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किया गया. हालांकि विधायक स्थानीय अस्पताल से ही कोरोना नेगेटिव होकर डिस्चार्ज हो गए और फिलहाल होम क्वारंटीन में हैं.

अस्पताल नहीं दे रहा जानकारी

इस बीच शुक्रवार को उनकी पत्नी की तबियत बिगड़ी तो उन्हें आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया. यहां कई घंटों की मशक्कत के बाद उनकी पत्नी को बेड मिल सका. रविवार को पप्पू ने अपने वीडियो में बताया कि तीन घंटे तक उनकी पत्नी फर्श पर पड़ी रहीं. बड़ी मुश्किल से डीएम के कहने में एक बेड मिल सका. अब उनकी पत्नी की हालत कैसी है इस बारे में भी विधायक को अस्पताल की ओर से जानकारी नहीं दी जा रही है.

ये भी पढ़ें: क्या UP में सिर्फ लोकल एड्रेस प्रूफ वालों को लगेगी वैक्सीन, जानें सरकार का बयान

बीजेपी विधायक ने अपने वीडियो में आरोप लगाया कि मेडिकल कॉलेज में उनकी पत्नी को बेहतर इलाज नहीं दिया जा रहा है और वहां खाने-पीने तक की दिक्कत है. अब सवाल है कि जब सत्ताधारी विधायक को अस्पताल में ऐसी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है तो आम आदमी कैसे बेहतर इलाज हासिल कर पाएगा.