Barmer : राजस्थान में लॉकडाउन (Lockdown) लगने के साथ ही बाहरी राज्यों के मजदूरों का पलायन करना शुरू हो गया है. बाड़मेर जिले (Barmer News) में विभिन्न स्थानों पर काम कर रहे अलग-अलग राज्यों के सैकड़ों मजदूर आज अचानक ही अपने घर जाने के लिए बोरी बिस्तर लेकर रेलवे स्टेशन पहुंच गए.

राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण रोकथाम (Coronavirus) को लेकर प्रदेश में कल से 14 दिन का लॉकडाउन लगाया है, जिसके चलते बाड़मेर जिले में विभिन्न स्थानों पर काम कर रहे बाहरी राज्यों के मजदूरों का पलायन होना शुरू हो गया है और आज सैकड़ों की संख्या में मजदूर अपने पूरे परिवार के साथ अपना सामान लेकर घर जाने के लिए बाड़मेर रेलवे स्टेशन पहुंच गए. 

यह भी पढ़ें- Covid प्रबंधन को लेकर BJP ने राजस्थान सरकार पर बोला हमला, कहा- CHC-PHC पर हो इलाज

मध्य प्रदेश के रहने वाले मजदूरों ने बताया लॉकडाउन का ऐलान होते ही काम धंधे बंद हो गए हैं और खाने पीने का सामान भी दुगनी से 3 गुना रेट में मिल रहा है. ऐसे में हम गरीब लोग अपने घर के लिए वापस गांव जा रहे हैं और सरकार हम गरीबों के लिए कुछ नहीं कर रही है. पिछली बार जिस तरह की परेशानियां उठानी पड़ी थी, वैसी नौबत दुबारा न आए इसलिए समय रहते ही घर जाना मुनासिब है.

मध्य प्रदेश के रहने वाले मजदूरों का कहना है कि वे पिछले तीन-चार महीने से यहां मजदूरी कर रहे थे, लेकिन अब कोरोना संक्रमण बढ़ने के चलते सरकार ने कल से लॉकडाउन लगाने की घोषणा कर दी है. जिससे हमारा काम काज पूरी तरीके से बंद हो गया है और ठेकेदार ने भी घर जाने के लिए बोल दिया है इसलिए हम बीवी बच्चों को लेकर अपने गांव जा रहे हैं.

राज्य सरकार ने मजदूरों की पलायन को रोकने के लिए इस बार लॉकडाउन में कुछ इकाइयों को छूट भी दी है, लेकिन पिछली बार कोरोना संक्रमण में मजदूरों को कोई परेशानियों के चलते इस बार मजदूर खुद ही अपने घरों की ओर पलायन करना शुरू कर दिया है.

यह भी पढ़ें- बढ़ते Covid संक्रमण को लेकर हालात चिंताजनक, BJP प्रवक्ता Ramlal Sharma ने रखी यह मांग