भोपाल: मध्य प्रदेश से तेजी से बढ़ रहे कोरोना के मामलों मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग ने भी एक बड़ा फैसला लिया है. उच्च शिक्षा विभाग ने जानकारी देते हुए बताया कि अब प्रदेश के विश्वविद्यालयों में होने वाली स्नातक (UG) प्रथम, द्वितीय,तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर (PG) द्वितीय और चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं छात्र अपने घर बैठकर दे सकेंगे. 

कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए अमेरिका की मदद लेगी छत्तीसगढ़ सरकार

जुलाई में परीक्षा, अगस्त में परिणाम
इसके साथ ही उच्च विभाग के फैसला लिया है कि छात्र-छात्रओं की परीक्षाएं जुलाई माह में ली जाएगी, इसके साथ ही अगस्त में परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया जाएगा.

छात्रों को नहीं होगी परेशानी 
दरअसल, पिछले कई दिनों से यूजी और पीजी के छात्र असमंजस की स्थिति में बने हुए थे. यह समझ नहीं आ रहा था कि पेपर किस माध्यम से होंगे. लेकिन अब उच्च शिक्षा विभाग ने छात्रों को घर बैठकर ही परीक्षा की इजाजत दे दी है. अब प्रदेश के किसी भी छात्र को कॉलेज जाकर परीक्षा नहीं देना होगा. पूरे प्रदेश में ओपन बुक पद्धति से सभी परीक्षाएं आयोजित कराई जाएगी. 

‘Dipti The Cutie’ की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई, 10 दिन चैटिंग फिर प्रपोजल, और ठगा गया युवक

नेट या एप पर मिलेंगे पेपर 
इससे पहले अप्रैल माह में मंत्री मोहन यादव ने बताया था कि यूजी और पीजी के सभी छात्रों को परीक्षा के पेपर नेट या एप के माध्यम से उपलब्ध कराएं जाएंगे. जिसके बाद छात्र घर पर ही कॉपी या खाली पेज पर लिख कर पास के सेंटर पर जमा करना होगा.

WATCH LIVE TV